Skip to main content

how to control your mind, आखिर हमारा दिमाग काम कैसे करता है

how to control your mind
आखिर हमारा दिमाग  काम कैसे करता है

how to control your mind, आखिर हमारा दिमाग काम कैसे करता है


क्या आपने कभी सोचा है कि इस दुनिया में कुछ लोग अमीर हैं तो कुछ लोग गरीब हैं कुछ लोग समझदार है तो कुछ लोग बेवकूफ हैं कुछ लोग मेहनती हैं तो कुछ लोग आलसी है ऐसा क्यों है

तो इसका जवाब है दिमाग

दिमाग होता क्या है आखिर हमारा दिमाग काम कैसे करता है
आपने कई बार अमीर लोग और समझदार लोगों को देखा होगा तो आपने कभी यह नहीं सोचा कि यह लोग हमसे अलग कैसे हैं ऐसा क्या है इनके पास उन्होंने ऐसा क्या किया कि वह इतने अमीर है
  • क्या इनके पास चार हाथ है
  • क्या इनके पास दो दिमाग है
  • क्या वह कोई बड़े-बड़े हाथियों को उठाते हैं 
  • क्या वह लोग 24 घंटे तक काम करते हैं कभी सोते ही  नहीं

बिल्कुल भी नहीं सब कुछ सेम है हर एक इंसान एक जैसा होता है वह भी वही काम करते हैं वह भी उतनी ही मेहनत करते हैं जितनी कि एक आम इंसान करता हैबल्कि उनसे भी कम मेहनत करते हैं
तो फिर फर्क क्या है 


फर्क है सोच का आपने पहले से अपने दिमाग में यह बात डाल कर रखी है कि वह कर सकते हैं मैं नहीं कर सकता तो जरा अपने दिमाग से सोच कर देखिए कि आप क्यों नहीं कर सकते सिर्फ एक कारण ढूंढ के दिखाइए

how to control your mind, आखिर हमारा दिमाग काम कैसे करता है

हमारा दिमाग और हमारा मन यह दो अलग-अलग चीजें होती है

 कभी-कभी ऐसा होता है कि आप कुछ काम करना चालू कर देते हो लेकिन आपको वह काम करने में मजा नहीं आता और आप बीच में छोड़ देते हो या करते-करते बोर हो जाते हैइसका कारण यह है कि हमारा दिमाग तो उस काम को करना चाहता है लेकिन हमारा मन नहीं करना चाहता इसलिए हम तय नहीं कर पाते कि हमको करना है या नहीं करना जब दिमाग और मन की लड़ाई होती है

उसको बोलते हैं confusion

पहले तो आपको अपने दिमाग का जो दायरा है उसको बड़ा करना पड़ेगा 

दिमाग एक बच्चे जैसा होता है वह उतना ही करता है जितना आप उससे करवाना चाहते हैंयह कोई मजाक नहीं है यह सिर्फ बातें नहीं है यह सच है कि आप जो चाहो वह हासिल कर सकते हो और वह भी बड़ी ही आसानी से
बस आपको मानना पड़ेगा believe करना पड़ेगा अपने दिमाग के अंदर वह बातें डालनी पड़ेगी 


जैसे कि आपको अंग्रेजी नहीं आती आपको गाड़ी चलाना नहीं आता तो आपको बिल्कुल लगता होगा कि यह सब बहुत ही मुश्किल है और उसको सीखने में बहुत सारी मेहनत लगेगी ऐसा इसलिए लगता है क्योंकि आपने यह पहले से दिमाग में डाल रखा है
अगर कोई अमेरिका का छोटा बच्चा है तो उसको इंग्लिश सीखने नहीं जानी पड़ेगी उसको पहले से आती होगी इसके लिए उसने कोई कोर्स नहीं किया कोई ग्रामर नहीं सीखा फिर भी उसको अंग्रेजी आती है  कैसे? how?


क्योंकि उसको बचपन से यह दिखाया गया था की आसान है यह तो सिर्फ भाषा है और यह हर कोई बोल लेता है आसानी से

 तो जब उसके दिमाग ने यह मान लिया कि आसान है और यह सिर्फ और सिर्फ एक भाषा है 

और कुछ नहीं है तो वो  English बोलने लग गया
जैसे कि जब पहले आपको गाड़ी चलाना नहीं आता था तो आप बहुत डरते थे यह सोचते थे मुश्किल है और शुरुआत में बहुत ध्यान रखते थे कि कैसे क्या करना है किस तरीके से चलाना है लेकिन कुछ सालों बाद जब आप पूरी तरीके से सीख जाते हो तो आपको बहुत ही आसान लगने लगता है जैसे कि कोई खेल हो 

उसके बाद सिर्फ आप सीट पर बैठते हो और गाड़ी automatically चलने लगती है


how to control your mind, आखिर हमारा दिमाग काम कैसे करता है

  जरा सोचिए की गाड़ी भी वही है आप भी वही इंसान है जो जो चीज आपको बहुत ही मुश्किल लगती थी वह चीज जब आप सीख जाते हो तो आपको बहुत ही आसान लगता है खेल लगने लगता
इसका कारण यह है कि पहले अपने दिमाग में डाल रखा था कि यह मैंने कभी नहीं चलाई तो  बहुत मुश्किल है आपने  धीरे-धीरे अपने दिमाग के अंदर यह सोचना चालू कर दिया कि हां मैं सीख रहा हूं और मैं सीख चुका हूं तो आपके लिए आसान हो गया


जब आप सोचते हो कि हां मैं कर सकता हूं और बहुत ही आसान है तो आप यकीन मानिए वह बहुत ही आसानी से हो जाता है 

इसके पीछे भी एक बहुत बड़ा science है जैसे आप बार-बार बोलते हो और अपने दिमाग में डालने की कोशिश करते हैं कि मैं कर सकता हूं और बहुत ही आसान है तो आपके दिमाग के अंदर से ऐसे केमिकल निकलते हैं जो उस चीज को आपके लिए आसान बना देते हैं उसके बाद आपको मुश्किल नहीं लगता अगर सीधी भाषा में कहें तो आपके अंदर का डर निकाल देते हैंअमीर और गरीब लोगों में यही फर्क हैकी  अमीर लोग सोचते हैं कि आसान है मैं कर सकता हूं और वह अपने दिमाग को कंट्रोल करके रखते हैंजबकि गरीब लोग सोचते हैं कि मैं कैसे कर सकता हूं बहुत ही मुश्किल है 

और यह सब वह सीखते हैं अपने आसपास के माहौल से क्योंकि उनके आसपास भी ऐसे ही लोग होते हैं जो चीजों को मुश्किल बनाते रहते हैं
आपको लग रहा होगा यह सब फालतू की बातें हैं सिर्फ मान लेने से सब थोड़ी हो जाएगा तो इसको साबित करने के लिए मैं आपको एक रियल स्टोरी सुनाता  हूं

how to control your mind, आखिर हमारा दिमाग काम कैसे करता है


कुछ वैज्ञानिकों ने मिलकर प्रयोग करने की कोशिश की कि दिमाग काम कैसे करता है औ

जो सोचते हैं वह सचमुच में हो जाता है क्या?
इसके लिए उन्होंने एक ऐसे आदमी को ढूंढा जिसको फांसी होने वाली थी

 और उस आदमी से कहा कि देखो तुम तो वैसे भी मरने ही वाले हो  तो तुम को फांसी देंगे तो उसमे  तुमको शायद थोड़ी ज्यादा तकलीफ हो लेकिन हम एक प्रयोग कर रहे हैं कि जिस में तुमको एक कुर्सी पर बिठा कर तुम्हारे आंखों पर पट्टी बांधकर तुमको एक सांप से कटवाया जाएगा जैसे हि सांप तुम्हें काटेगा 1 से 2 सेकेंड के अंदर तुम्हारी मौत हो जाएगी तुम्हें ज्यादा दर्द भी नहीं होगा और तड़पना भी नहीं पड़ेगा और हमारा प्रयोग भी हो जाएगा

 तुमको तो वैसे भी मरना है और ऐसे भी तो क्यों ना हमारी मदद करो और तुमको एक आसान मौत भी मिल जाएगी तो वह मान गया और फिर उसको एक कुर्सी पर बिठा दिया और उसकी आंखों पर पट्टी बांधी अब उसको तो यह पता ही था उसने तो अपने दिमाग में यह पहले से डाल कर रखा था कि जैसे ही वह साप मुझे काटेगा 1 से 2 सेकेंड के अंदर में मरने वाला हूं 

दिमाग में यह डर पहले से डाल के रखा था  के सांप के काटने के बाद तुरंत तुम्हारी मौत हो जाएगी

फिर जब उसको बिठाते हैं और वह वैज्ञानिक लोग सांप की जगह दो सुई लेकर उसके पास जाते हैं क्योंकि उसकी आंखों पर पट्टी बंधी होती है तो उसको पता नहीं चलता जैसे ही वो वैज्ञानिक लोग धीरे-धीरे उसके पास जाते हैं उसके अंदर का डर बढ़ता है और उसके बाद वह उसके हाथ में खाली एक छोटी सी सुई चुभाते है लेकिन उस इंसान की आंखों में पट्टी बंधी होती है तो उसको पता नहीं चलता कि वह सुई थी या सांप था 

क्योंकि उसने अपने दिमाग में तो पहले से यह डाल रखा था कि साप से कटवाने वाले हैं

 तो जैसे ही उसको सुई चुभाई  गई तुरंत ही 1 से 2 सेकंड में उसकी मौत हो गई 

वैज्ञानिक लोग भी चौक गए के ऐसा कैसे हो सकता है 

इसलिए हुआ क्योंकि उस इंसान ने पहले से अपने दिमाग में ही डाल के रखा हुआ था कि मुझे सांप काटने वाला है और मैं मरने वाला हूं और जैसे ही उसने यह सोचा और इस चीज को मान लिया उसके दिमाग के अंदर से ऐसे केमिकल रिलीज हुए और सच में वह डर की वजह से मर गया

 और बात यहां पर खत्म नहीं होती असली चौंकाने वाली चीज तो तब सामने आई जब उसके शरीर की जांच की गई के आखिर यह मरा कैसे तो जब उसके शरीर की जांच की गई तो आप मानोगे नहीं उसके शरीर के अंदर से जहर मिला

 तो ये ताकत होती है दिमाग की 

how to control your mind, आखिर हमारा दिमाग काम कैसे करता है


आपने सुना होगा कि जिन लोगों को कैंसर होता है इस बीमारी के बाद बहुत ही जल्दी उनकी मौत हो जाती है उसका यह कारण नहीं है कि वह बहुत ही बड़ी बीमारी है बिल्कुल भी नहीं

उसका कारण हमारा दिमाग है हम यह सोच लेते हैं कि हमको कैंसर हो चुका है बड़ी बीमारी हो गई है तो इसके बाद हम जिंदा नहीं रहेंगे हम बहुत ही जल्दी मरने वाले हैं बार-बार नेगेटिव सोचते हैं और हिम्मत हार जाते हैं तो ज्यादातर जो लोग हैं उनकी मौत कैंसर से नहीं उनकी सोच की वजह से होती है जैसा वह सोचते हैं वैसा ही केमिकल उनके दिमाग के अंदर से निकलता है और फिर वह अपना असर दिखाता है
जैसे कि आप नींबू, इमली, आंवला ऐसी चटपटी चीजों के बारे में खाली सोचते हो तो आपके मुंह में ऑटोमेटिकली मीठा पानी आ जाता है यह भी दिमाग का खेल है
तो जिस दिन आपने अपने दिमाग में यह डाल लिया कि मैं वह चीज कर सकता हूं या मेरे लिए सब कुछ आसान है उस दिन वह चीज ऑटोमेटिकली हो जाएगा बस शर्त यह है कि आपको उसके ऊपर पूरा का पूरा विश्वास करना पड़ेगा और यह होगा कैसे 

तो इसके लिए आपको बार-बार बोलना है

I am a great

I am a mastermind

Iam a best

I can do it


अगर आप बार-बार यह सब बोलते हो तो आपका दिमाग इन सब बातों को मान  लेगा और आप ऐसे  बन जाओगे

Comments

Post a Comment

Popular posts from this blog

apne andar ke dar ko kaise nikale

apne andar ke dar ko kaise nikale apne andar ke dar ko kaise nikale apne andar ke dar ko nikal ne  के लिए सबसे पहले हमें यह सोचना होगा की दुनिया में डर नाम की कोई चीज होती भी है या नहीं या फिर यह सिर्फ हमारे दिमाग का वहम है 😣।  नौकरी छुटने का डर 😣।   हारने का डर 😣।  नुकसान का डर 😣। बेइज्जती का डर 😣। बीमारी का डर 😣। मौत का डर डर सिर्फ और सिर्फ हमारे अंदर की एक फीलिंग होती है जैसे कि गुस्सा, प्यार, खुशी, दुख यह सब होता है वैसे ही हमारा डर होता है और यह सब हमारे दिमाग की उपज होती है असलियत में इन सब चीजों का दुनिया में कोई अस्तित्व नहीं है जैसा आप अपने दिमाग से सोचोगे वैसा आप feel करोगे तो यह सिर्फ और सिर्फ हमारी एक feeling है कुछ डर हमारे दिमाग के लेवल पर होते हैं और कुछ डर  practical होते हैं Normally  हमारे अंदर कौन-कौन से डर होते हैं डर हमको तब लगता है  जब हमारे पासSolution नहीं होते 1 कि मैंने इतने सालों तक पढ़ाई की है   डिग्री हासिल की है  तो अब मुझे कोई जॉब मिलेगी या नहीं नहीं मिली तो मैं क्या करूंगा   Solution इसके लिए आप पढ़ाई के सा

apni kabiliyat ko kaise pahchane ?

apni kabiliyat ko kaise pahchane ? How to find your talent? apni kabiliyat ko kaise pahchane apni adar kabiliyat ko kaise pahchane  तो आज हम आपको एकदम सीधी और आसान भाषा में बताते हैं आप कोई भी काम करते हो किसी भी field में हो अगर वह काम आप से अच्छा कोई भी नहीं कर पाता तो समझ लीजिए कि वह आपकी काबिलियत है जैसे क्रिकेट के अंदर सचिन तेंदुलकर है तो यह सब जानते हैं कि उनकी जितना अच्छा बैट्समैन और कोई नहीं था वह टाइम पे  दुनिया  में हर एक आदमी unique होता है सबके अंदर कोई ना कोई uniqueness होती है तो अपने अंदर की ओर से uniqueness को पहचानो ऐसा कोई ना कोई काम जरूर होगा जो आपसे अच्छा और कोई नहीं कर पाएगा तो किस काम को आप सबसे अच्छे तरीके से और सबसे बैटर करते हो  वही आपकी uniqueness भी है और वही आपकी काबिलियत भी है तो अपने आप को देखो और अपने आप को समझो कि ऐसा कौन सा काम है जो मुझसे अच्छा और कोई नहीं कर पाएगा  लेकिन आप कोई भी काम अच्छे तरीके से तब कर पाओगी जब आपको उसके अंदर इंटरेस्ट होगा तो अब यह पता कैसे चलेगा कि हमारा इंटरेस्ट किसके अंदर है?? Ri

how to increase confidence आत्मविश्वास को कैसे बढ़ाएं

how to increase confidence how to increase confidence अपने अंदर के confidence को कैसे बढ़ाएं  how to increase confidence आप अपने आप को कोई भी काम करने के काबिल बनाएं अगर आप काबिल होंगे talented होंगे तो बिना कुछ किए आपके अंदर confidence आ जाएगा how to increase confidence   पहले तो हमें समझना पड़ेगा confidence और over confidence में क्या फर्क होता है क्योंकि हमें यहां पर confidence को बढ़ाना है ना कि over confidence को तो over confidence किसे कहते हैं जैसे कि आपको कोई काम नहीं आता और आप बोलते हो कि हां मुझे आता है और में आसानी से कर लूंगा इसे कहते है over confidence तो जब हम कोई भी काम की शुरुआत करने जाते हैं या किसी से भी मिलने जाते है तो हमको हमारे ऊपर विश्वास क्यों नहीं होता हम पूरे तरीके से confidence क्यों नहीं होते?  इसके सबसे बड़े तीन कारण है 1। हमको लगता ही नहीं कि हम उस काम को कर पाएंगे अपने ऊपर आपको विश्वास ही नहीं होता  क्योंकि शायद आप पहली बार कर रहे हो या फिर इससे पहले आपने कोई इतना बड़ा काम नहीं किया तो उसका यह solution है आपने पहले अपन